Bihar News

चिराग को बड़ा झटका, लोकसभा अध्यक्ष ने पशुपति पारस को माना LJP संसदीय दल का नेता

चिराग को बड़ा झटका, लोकसभा अध्यक्ष ने पशुपति पारस को माना LJP संसदीय दल का नेता
Sudhendra Singh | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 14 Jun 2021, 10:37:00 PMBihar Latest News Update: चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस ने एलजेपी सांसदों के साथ लोकसभा अध्यक्ष से मुलाकात की और लोजपा संसदीय दल का नेता चुने जाने को लेकर एक चिट्ठी सौंपी। इससे पहले चिराग दिल्ली में चाचा पशुपति पारस के घर पहुंचे। उनके…

| नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 14 Jun 2021, 10:37:00 PM

Bihar Latest News Update: चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस ने एलजेपी सांसदों के साथ लोकसभा अध्यक्ष से मुलाकात की और लोजपा संसदीय दल का नेता चुने जाने को लेकर एक चिट्ठी सौंपी। इससे पहले चिराग दिल्ली में चाचा पशुपति पारस के घर पहुंचे। उनके हाथ में पट्टी बंधी हुई थी। हालांकि, चाचा घर करीब आधे घंटे इंतजार के बाद उनकी मुलाकात नहीं हो सकी और खाली हाथ लौटना पड़ा।

Bihar Politics : देखिए कैसे चाचा पशुपति ने चिराग के साथ 24 घंटे में कर दिया खेल, ये है अंदर की असली बात

हाइलाइट्स:

  • लोकसभा अध्यक्ष ने पशुपति पारस को माना लोजपा संसदीय दल का नेता
  • चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस अब लोकसभा में लोजपा के संसदीय दल के नेता होंगे
  • पारस ने कहा कि उनका गुट केंद्र में एनडीए सरकार का हिस्सा बना रहेगा

पटना
लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में सोमवार को बड़ा सियासी बदलाव देखने को मिला। राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को छोड़कर पार्टी के बचे पांच सांसदों ने पशुपति कुमार पारस को अपना नेता मान लिया है। इसके लिए दिन में लोकसभा के स्पीकर ओम बिड़ला को एक चिट्ठी सौंपी गई थी, जिसे देर शाम मंजूर कर लिया गया है। अब आधिकारिक तौर पर रामविलास पासवान के छोटे भाई यानी चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस लोकसभा में लोजपा के संसदीय दल के नेता होंगे।

लोजपा के छह में से पांच सांसदों ने रविवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात कर चिराग पासवान की जगह पारस को अपना नेता नियुक्त करने का लिखित अनुरोध किया था। लोकसभा सचिवालय ने सोमवार को एक अधिसूचना में पार्टियों के फ्लोर नेताओं की एक संशोधित सूची जारी की, जिसमें पारस को लोक जनशक्ति पार्टी के नेता के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।

लोजपा को टूटने से बचाया: पशुपति पारस
पशुपति कुमार पारस ने आज सीएम नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए उन्हें एक अच्छा नेता और ‘विकास पुरुष’ बताया था। हाजीपुर से लोजपा सांसद पारस ने कहा, “मैंने पार्टी को तोड़ा नहीं, बल्कि बचाया है।” उन्होंने कहा कि लोजपा के 99 प्रतिशत कार्यकर्ता पासवान के नेतृत्व में बिहार 2020 विधानसभा चुनाव में जदयू के खिलाफ पार्टी के लड़ने और खराब प्रदर्शन से नाखुश हैं। उन्होंने कहा कि लोजपा टूट के कगार पर थी, जिसे उन्होंने बचाया है। पारस ने कहा कि उनका गुट केंद्र में एनडीए सरकार का हिस्सा बना रहेगा और पासवान भी संगठन का हिस्सा बने रह सकते हैं।

Exclusive : लोजपा में टूटी की दीवार पर लिखी इबारत पढ़ने से चूके चिराग… पढ़िए इनसाइड स्टोरी

चाचा और भाई ने नहीं की चिराग से मुलाकात
लोजपा में चल रही खींचतान के बीच चिराग पासवान दिल्ली स्थित अपने चाचा के आवास पर उनसे मिलने पहुंचे। पासवान के रिश्ते के भाई और सांसद प्रिंस राज भी इसी आवास में रहते हैं। बीते कुछ समय से पासवान की तबीयत ठीक नहीं चल रही, उन्होंने 20 मिनट से ज्यादा समय तक अपनी गाड़ी में ही इंतजार किया। जिसके बाद वह घर के अंदर जा पाए और एक घंटे से भी ज्यादा समय तक घर के अंदर रहने के बाद वहां से चले गए। इस दौरान चिराग पासवान ने वहां मौजूद मीडियाकर्मियों से कोई बात नहीं की। ऐसा माना जा रहा है कि दोनों असंतुष्ट सांसदों में से उनसे किसी ने मुलाकात नहीं की। एक घरेलू सहायक ने बताया कि चिराग पासवन जब आए तब दोनों सांसद घर पर मौजूद नहीं थे।

Exclusive : एलजेपी में टूट पहले ही तय थी, सिर्फ कंधा JDU का था लेकिन बंदूक थी चिराग के चाचा पशुपति पारस की… जानिए इनसाइड स्टोरी

‘जो जैसा बोएगा वैसा ही काटेगा’.. लोजपा की टूट पर जेडीयू
लोक जनशक्ति पार्टी में फूट को लेकर जनता दल यूनाइटेड ने चिराग पासवान पर निशाना साधा है। पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष आरसीपी सिंह ने कहा कि जो जैसा बोएगा वैसा ही काटेगा। उन्होंने कहा कि पुरानी कहावत है कि जो जैसा बोता है वैसा ही पाता है। उन्होंने चिराग पासवान पर तंज कसते हुए कहा कि बिना मेहनत के पद मिलना आसान होता है, लेकिन उसे पचाना सबके लिए आसान नहीं होता है।

Muzaffarpur News: ‘ये पारस बाबू का अंदरूनी गुस्सा है….एलजेपी में टूट नीतीश का किया धरा है’

पार्टी में बिल्‍कुल अकेले रह गए चिराग
पशुपति पारस को संसदीय दल का नया नेता चुन लिया गया है। अब चिराग पासवान बिल्कुल अकेले पड़ गए हैं। बागी सांसदों ने उन्‍हें राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष मानने से भी इनकार कर दिया है। जिन पांच सांसदों ने चिराग से अलग होने का फैसला किया है, उनमें पशुपति पारस पासवान (चाचा), प्रिंस राज (चचेरे भाई), चंदन सिंह, वीणा देवी, और महबूब अली केशर शामिल हैं। अब चिराग पार्टी में बिल्‍कुल अकेले रह गए हैं।

Chirag_Pashupati

फाइल फोटो

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुक पेज लाइक करें

Web Title : speaker om birla accepted pashupati paras as the leader of ljp parliamentary party in the lok sabha
Hindi News from Navbharat Times, TIL Network

Read More

dainikpatrika

कृपया टिप्पणी करें

Click here to post a comment