Politics

कारसेवकों पर गोली चलाने वालों ने रामभक्तों के सामने किया समर्पण: योगी

कारसेवकों पर गोली चलाने वालों ने रामभक्तों के सामने किया समर्पण: योगी
अयोध्या: लोगों को याद दिलाना कारसेवकों पर फायरिंग के बारे में">अयोध्या के दौरान">राम मंदिर आंदोलन 31 साल पहले मुख्यमंत्री">योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि हिंसा के पीछे लोग लोगों की इच्छा के आगे झुक गए हैं। अयोध्या के दर्शन करने और देवता का आशीर्वाद लेने के लिए कतार में खड़े राजनीतिक नेताओं पर तंज…

अयोध्या: लोगों को याद दिलाना कारसेवकों पर फायरिंग के बारे में”>अयोध्या के दौरान”>राम मंदिर आंदोलन 31 साल पहले मुख्यमंत्री”>योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि हिंसा के पीछे लोग लोगों की इच्छा के आगे झुक गए हैं। अयोध्या के दर्शन करने और देवता का आशीर्वाद लेने के लिए कतार में खड़े राजनीतिक नेताओं पर तंज कसते हुए, “>योगी ने कहा, “यहां उपस्थित आप में से अधिकांश लोगों को याद होगा कि 31 साल पहले 30 अक्टूबर और 2 नवंबर (1990) को मंदिर शहर में क्या हुआ था। राम भक्त और कारसेवक… उन पर बेंत का आरोप लगाया गया।’ “जय श्री राम का जाप या राम मंदिर के बारे में बात करना एक अपराध था। लेकिन आज जो फायरिंग के पीछे थे वो आपकी मर्जी के आगे झुक गए। यही जनता और लोकतंत्र की ताकत है।’ “अगर कुछ और दिन आप लोग ऐसे ही चले तो अगली”>kar seva ke liye weh aur unke khandaan line pe khade hote dikhai denge… Aap dekhna jab agli kar seva hogi tab goli nahi chalegi… Ram bhakton aur Krishna bhakton pe phool barsaye jayenge (If people remain united and patient for a few more years, a day would come when such leaders and their families would contribute in kar seva. In the next kar seva, volunteers will not have to face bullets. Instead, flower petals will be showered upon them),” he said.
He said previous governments had misplaced priorities that nurtured politics of appeasement. “Unhone kabristan ki deewar ke liye dhan diya, magar hum dharm sanskriti aur rashtra utthan ke liye pratibaddh hain,” Yogi said.
“Ram is the thread that binds people from different walks of life. Ram has a place for everyone in his heart and that is his real power. He embraced Nishadraj, consumed lovingly the fruits first tasted by Shabari, brought different vanvasis (monkeys and bears) together to become the saviour of wisdom and human race,” the CM said.
Stating that Ram embodied jaivik (organic), daivik (divine) and bhautik (physical or material) elements which also reflected in his vision of Ram Rajya, the CM welcomed national and international dignitaries and reiterated that their presence showed that Ram had a universal appeal.

FacebookTwitterLinkedinEMail

अधिक पढ़ें

टैग

dainikpatrika

कृपया टिप्पणी करें

Click here to post a comment